Digital India Kya Hai? | Digital India के उद्देश और लाभ क्या है?

दोस्तों !आज का हमारा आर्टिकल डिजिटल इंडिया है डिजिटल इंडिया ने हमारे देश को बहुत प्रगति प्रदान की है चिकित्सा, स्वास्थ्य, पढ़ाई,कार्यक्रम आज डिजिटल के माध्यम से आसान हो गए हैं डिजिटल इंडिया के माध्यम से हमारी इकोनॉमी में बहुत सुधार हुआ है समय की बचत के साथ-साथ भ्रष्टाचार में भी कमी आई है। आइए जानते हैं डिजिटल इंडिया की शुरुआत, उद्देश लाभ क्या क्या है?

 

Digital India Kya Hai  Digital India के उद्देश और लाभ क्या है

 

Digital India क्या है ?

सरकारी विभागों एवं भारत के लोगों को एक दूसरे के पास लाने की भारत सरकार की एक पहल है जिसके तहत सरकारी विभागों को देश की जनता से जोड़ना है इसका उद्देश्य यह सुनिश्चित करता है कि बिना कागज के इस्तेमाल के सरकारी सेवाएं इलेक्ट्रॉनिक रूप से जनता तक पहुंच सके इस योजना का एक उद्देश्य ग्रामीण इलाकों की हाई स्पीड इंटरनेट के माध्यम से जोड़ना है-इस के तीन प्रमुख घटक है –

  • डिजिटल आधारभूत ढांचे का निर्माण
  • इलेक्ट्रॉनिक से सेवाओं को जनता तक पहुंचाना
  • डिजिटल साक्षरता

भारत के हर नागरिक को डिजिटल दुनिया से जुड़ने के लिए सरकार ने ये शानदार कदम उठाया डिजिटल इंडिया प्रोग्राम भारत सरकार द्वारा चलाई जाने वाली स्कीम है जिसने देश की इकोनॉमी को एक डिजिटल रूपमें बदल दिया है डिजिटल इंडिया वह प्रोग्राम है जो देश को एक डिजिटल देश में बदलती है और भारत को नया रूप प्रदान करते हैं सरकार ने फाइनेंशियल ईयर (2020- 21) के लिए फंड को बढ़ाकर 3,958 करोड़ कर दिया है।

READ MORE:

सरकार के अनुसार डिजिटल इंडिया प्रोग्राम 18 लाख नई नौकरियां प्रदान करेगा इससे देश में बेरोजगारी में कमी होगी देश की बहुत सी स्थितियों में सुधार होगा डिजिटल इंडिया प्रोग्राम से भारत के सभी गवर्नमेंट डिपार्टमेंट को डिजिटल रूप से गति की ओर बढ़ने का मौका मिलेगा और यंगस्टर को डिजिटल इंडिया जॉब देने में भी मदद करेगा इससे देश की अर्थव्यवस्था में काफी सुधार होगा।

डिजिटल इंडिया की शुरुआत-

दिल्ली के इंदिरा गांधी इनडोर स्टेडियम में 1 जुलाई 2015 को देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा की गई थी इसका मुख्य उद्देश इलेक्ट्रॉनिक रूप से ऑनलाइन अवसंरचना में सुधार करके इंटरनेट कनेक्टिविटी को बढ़ाकर या प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में डिजिटल रूप से सशक्त बनाने के लिए है इसकी पहल में ग्रामीण क्षेत्रों को हाई स्पीड इंटरनेट नेटवर्क जोड़ने की योजना शामिल है सुरक्षित और स्थिर बुनियादी ढांचे का विकास सरकारी सेवाओं को डिजिटल रूप से वितरित करना और सार्वभौमिक डिजिटल साक्षरता या भारत का अन्य प्रमुख योजनाओं जिसे भारत ने मेक इन इंडिया, स्टार्टअप इंडिया, स्टैंड अप इंडिया, अधिक गलियारों भारतमाला ,सागरमाला दोनों में प्रफुल्लित और लाभकारी है।

31 दिसंबर 2018 तक भारत में 130 करोड़ लोगों की आबादी 123 करोड डिजिटल बायोमेट्रिक पहचान पत्र 121 करोड़ मोबाइल फोन, स्मार्टफोन 56 करोड़ थे इस मौके पर बड़ी हस्तियां जैसे रिलायंस कंपनी के अध्यक्ष मुकेश अंबानी टाटा ग्रुप के उस समय के अध्यक्ष साइरस मिस्त्री और विप्रो के अजीज प्रेमजी ने संकल्प लिया कि डिजिटल साक्षर भारत को और आगे बढ़ाया जाएगा।

डिजिटल इंडिया के स्तंभ-

  • ब्रॉडबैंड हाईवे
  • सबको फोन की उपलब्धता
  • इंटरनेट तक सबकी पहुंच
  • ई -शासन
  • ई- क्रांति (इलेक्ट्रॉनिक सेवाएं )
  • सभी के लिए सूचना
  • इलेक्ट्रॉनिक मैन्युफैक्चरिंग
  • आईटी के जरिए
  • रोजगार भविष्य के कार्यक्रम की तैयारी

डिजिटल इंडिया के उद्देश्य-

Broadband highway – सामान्य तौर पर ब्राड बैंड का मतलब दूरसंचार से है जिसमें सूचना के लिए आवृत्तियों के व्यापक उपलब्ध होते हैं इस कारण सूचना को कई गुना तक बढ़ाया जा सकता है और जुड़े हुए तमाम band की विभिन्न frequencies या चैनलों के माध्यम से भेजा जा सकता है ब्रॉडबैंड हाईवे का उद्देश्य भारत के सभी गांवों को इंटरनेट के माध्यम से जोड़ना है इसका मतलब Telicom से होता है जिसके लिए फाइबर ऑप्टिकल केबल को लगाया गया है इसमें सभी ग्राम पंचायतों को 100 MBPS की स्पीड से ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी प्रोवाइड की जाएगी इससे गांव का प्रत्येक व्यक्ति इंटरनेट से जुड़ जाएगा और सरकारी सुविधाओं का लाभ प्राप्त कर सके अगले 3 साल के भीतर देश भर के ढाई लाख पंचायतों को इससे जोड़ा जाएगा।

Mobile connectivity – देश भर में तकरीबन सवा अरब करोड़ आबादी में मोबाइल फोन कनेक्शन की संख्या जून 2014 तक करीब 80 करोड़ थी शहरी इलाकों में भले ही मोबाइल फोन पूरी तरह सुलभ हो गया लेकिन गांव में अभी तक इसकी सुविधा नहीं हो पाई है देश के 55000 गांव में अगले 5 वर्षों के भीतर मोबाइल संपर्क की सुविधा सुनिश्चित करने के लिए 20 हजार करोड़ के यूनिवर्सल सर्विस abali gation का गठन किया गया है।

Public internet access program -भविष्य में सरकारी विभागों तक आम आदमी की पहुंच बढ़ाई जाएगी पोस्ट ऑफिस के लिए यह मल्टी सर्विस सेंटर के रूप में बनाया जाएगा नागरिकों तक सेवाएं मुहैया कराने के लिए यहां अनेक तरह की गतिविधियों को अंजाम दिया जाएगा।

E – governance– सूचना प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल करते हुए बिजनेस प्रोसेस री- इंजीनियरिंग के ट्रांजैक्शन में सुधार किया जाएगा विभिन्न विभागों के बीच आपसी सहयोग और आवेदनों को ऑनलाइन ट्रैक किया जाएगा इसके अलावा स्कूल प्रमाण पत्रों voter ID cards आदि की जहां जरूरत पड़े वहां इसका ऑनलाइन इस्तेमाल किया जा सकता है यह कार्यक्रम सेवाओं और मंचो को एकीकरण यू आई डी ए आई (आधार )पेमेंट गेटवे ( बिलों के भुगतान) में मददगार साबित होगा साथ ही सभी प्रकार के डाटाबेस और सूचनाओं को इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से कराया जाएगा।

ई-क्रांति – इसमें अनेक बिंदुओं को फोकस किया गया है एजुकेशन के तहत सभी स्कूलों को ब्रॉडबैंड से जोड़ने सभी स्कूलों को मुफ्त वाई-फाई की सुविधा और डिजिटल लिटरेसी कार्यक्रम की योजना है किसानों के लिए रियल टाइम कीमत की सूचना नगदी राहत, भुगतान मोबाइल बैंकिंग आदि ऑनलाइन सेवा प्रदान करना स्वास्थ्य के क्षेत्र में ऑनलाइन मेडिकल सलाह रिकॉर्ड और संबंध दवाओं की आपूर्ति समेत मरीजों की सूचना में जुड़े एक्सचेंज की स्थापना करते हुए लोगों को हेल्थ केयर के सुविधा देना या के क्षेत्र में एक और यह पुलिस इंतजाम के तहत मोबाइल माइक्रो एटीएम प्रोग्राम आदि के क्षेत्र में ई- क्रांति का महत्व है।

सभी के लिए सूचना – इस कार्यक्रम के तहत सूचना और दस्तावेजों तक ऑनलाइन पहुंच कायम की जाएगी इसके लिए ओपन डाटा प्लेटफार्म मुहैया कराया जाएगा जिसके माध्यम से नागरिकों तक सूचना आसानी से पहुंच सके नागरिकों और सरकार के बीच संवाद की व्यवस्था की जाएगी।

इलेक्ट्रॉनिक क्षेत्र में आत्मनिर्भरता – देशभर में इलेक्ट्रॉनिक क्षेत्र से जुड़ी तमाम चीजों का निर्माण देश में किया जाएगा इसके तहत नेट जीरो इंपोर्ट्स का लक्ष्य रखा गया ताकि 2020 तक इलेक्ट्रॉनिक के मामले में आत्मनिर्भरता की जा सके इसके लिए आर्थिक नीतियों में बदलाव भी किए जाएंगे fabulous design , सेटअप बॉक्स, विसेट मोबाइल उपभोक्ता, मेडिकल इलेक्ट्रॉनिक ,स्मार्ट एनर्जी मीटर, स्मॉर्ट कार्ड, माइक्रो एटीएम आदि को बढ़ावा दिया जाएगा।

रोजगार सूचना प्रौद्योगिकी – देशभर में सूचना प्रौद्योगिकी के प्रसार से रोजगार के अधिकांश रूपों में इसका इस्तेमाल बढ़ रहा है इसलिए इस प्रौद्योगिकी के अनुरूप कार्य बल तैयार करने को प्राथमिकता दी जाएगी कौशल विकास के मौजूदा कार्यक्रमों को इस पद्धति से जोड़ा जाएगा संचार सेवाएं वाली कंपनियां ग्रामीण कार्य बल को उनकी अपनी जरूरतों के मुताबिक प्रशिक्षित किया जाएगा गांव वासियों को आईटी jobs के लिए प्रशिक्षित किया जाएगा।

भविष्य में कार्यक्रम-

  1. संदेशों के लिए आई टी प्लेटफार्म डीईआइटी द्वारा व्यापक स्तर पर संदेश भेजने के लिए एक एप्लीकेशन तैयार किया गया है जिसके दायरे में सभी चुने हुए प्रतिनिधि वा सभी सरकारी कर्मचारी आएंगे 1.36 करोड़ मोबाइल व 22 लाख ईमेल इस डाटाबेस के हिस्से में होंगे।
  2. सरकारी शुभकामनाओं के लिए ई ग्रीटिंग्स का गुलदस्ता माई गांव पोर्टल के जरिए ,E-greeting cards सुनिश्चित किया गया है।
  3. विश्वविद्यालय में वाईफाई नेशनल नॉलेज नेटवर्क( NKAN)के तहत सभी विश्वविद्यालयों को इस योजना में शामिल किया जाएगा।

डिजिटल इंडिया के लाभ-

डिजिटल इंडिया को प्रारंभ हुआ लगभग 5 वर्ष होने को है और यह काफी हद तक योजना सफल रही हैं।

  1. समय की बचत -कैशलेस ट्रांजेक्शन से समय की बचत होती हैं कैश निकालने के लिए बैंक जाना एटीएम की लाइन में खड़े रहना या किसी प्रकार का बिल पे करना हो तो इन सभी कामों में बहुत समय खराब होता है डिजिटल के माध्यम से हम घर बैठे लेन देन कर सकते हैं
  2. भ्रष्टाचार में कमी -कैशलेस इकोनॉमी से भ्रष्टाचार में कमी आई है इससे रिश्वतखोर अपनी हरकतों से बाज आएंगे भारत में ज्यादातर भ्रष्टाचार कैश के जरिए होता है।
  3. अर्थव्यवस्था में सुधार -भारत के इंटरनेट से जोड़ने में डिजिटल इंडिया का सबसे बड़ा योगदान है पूरी तरह से निर्भर है जिससे सभी प्रकार की जानकारी प्राप्त की जा सकती है देश की इकोनॉमी में काफी सुधार होगा।
  4. cashless payment होने से अब आपको कैश चोरी होने में भी कमी आएगी और ऑनलाइन पेमेंट करने पर आपकी सभी तरह को पेमेंट का रिकॉर्ड बैंक में सेव रहेगा पेटीएम फोन पर फ्री रिचार्ज एप्लीकेशन कस्टमर को कैशलेस पेमेंट पर डिस्काउंट तथा कैशबैक जैसे ऑफर आपको देती है फ्लिपकार्ट, अमेजॉन जैसी शॉपिंग वेबसाइट है जो बैंक से ऑनलाइन पेमेंट करने पर डिस्काउंट देती हैं ।

सरकारी योजना 2020-

  • अटल पेंशन योजना
  • प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना
  • बचत लैंप योजना
  • प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा
  • दीनदयाल विकलांग पुनर्वास योजना •प्रधानमंत्री जन धन योजना
  • दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना •संपूर्ण ग्राम रोजगार योजना
  • ग्रामीण भंडारण योजना
  • स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना
  • इंदिरा आवास योजना
  • स्वालंबन
  • समन्वित बाल विकास सेवाएं
  • सुकन्या समृद्धि योजना
  • एकीकृत ग्रामीण विकास कार्यक्रम •प्रधानमंत्री आवास योजना
  • जननी सुरक्षा योजना
  • प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना
  • कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय योजना
  • प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना
  • किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना
  • पशुधन बीमा योजना
  • राष्ट्रीय पेंशन योजना
  • हेरिटेज सिटी डेवलपमेंट एंड आगमेटेंशन योजना
  • राष्ट्रीय सेवा योजना
  • अंत्योदय अन्न योजना
  • प्रधान मंत्री आदर्श ग्राम योजना
  • दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना
  • आयुष्मान भारत योजना

LAST WORD:

दोस्तों! हमारा आज का आर्टिकल डिजिटल इंडिया जिसके माध्यम से हमने जाना डिजिटल इंडिया की शुरुआत कैसे हुई?, इसके क्या उद्देश्य हैं?, लाभ आदि जानकारी प्राप्त की उम्मीद है कि आपको यह लेख पसंद आया होगा तो आप इसे लाइक सब्सक्राइब करना ना भूले ,और कमेंट करके जरूर बताइए कि आपको यह आर्टिकल कैसा लगा ?
धन्यवाद!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here